World Blood Donor Day : विश्व रक्तदाता दिवस/रक्तदान दिवस कब मनाया जाता है ?

दोस्तों, रक्तदान एक महान दान होता है, और जो रक्तदान करता है, वो समाज के लिए एक नायक होता है। तो रक्तदान दिवस के मौके पर आज हम आपको बताएँगे की “World Blood Donor Day : विश्व रक्तदाता दिवस/रक्तदान दिवस कब मनाया जाता है ?

आज का विषय – “World Blood Donor Day : विश्व रक्तदाता दिवस/रक्तदान दिवस कब मनाया जाता है ?

विश्व रक्तदाता दिवस/रक्तदान दिवस कब मनाया जाता है ?

World Blood Donor Day : विश्व रक्तदाता दिवस/रक्तदान दिवस पूरी दुनिया में 14 जून को मनाया जाता है। इसकी शुरुआत विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के द्वारा 2004 में की गयी थी।

विश्व रक्तदाता दिवस के इतिहास के बारे में।

विश्व रक्तदाता दिवस की शुरुआत विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) के द्वारा साल 2004 में की गयी थी।

इस दिवस को मनाने का उद्देश्य था, की आप अपने रक्त को दान करके जरूरमंद लोगो की जान बचा सकते हो, और यह एकदम सुरक्षित है। इसका आपके शरीर पर कोई गलत प्रभाव नहीं पड़ता है।

कार्ल लैंडस्टीनर (Karl Landsteiner) कौन थे?

14 जून 1868 में कार्ल लैंडस्टीनर का जन्म हुआ था। कार्ल लैंडस्टेनर के वैज्ञानिक थे। उन्होंने एबीऔ रक्त समूह की खोज की थी। इस खोज के लिए उन्हें नोबेल पुरस्कार भी दिया गया था।

कार्ल लैंडस्टीनर के जन्म दिवस 14 जून को ही विश्व रक्तदाता दिवस के रूप में मनाया जाता है। विश्व रक्तदाता दिवस की शुरुआत विश्व स्वास्थ संगठन (WHO) के द्वारा साल 2004 में की गयी थी।

ब्लड ट्रांसफ्यूजन क्या होता है?

ब्लड ट्रांसफ्यूजन एक मेडिकल प्रक्रिया है। इसमें एक नली और सुईं की सहायता से आपके शरीर में दान किया हुआ रक्त चढ़ाया जाता है। इसे आम भाषा में खून चढ़ाना भी कहते है। इस प्रक्रिया से लोगो की जान बचाई जाता है।

Blood Transfusion की कब जरुरत पड़ती है ?

जब किसी कारण से हमारे शरीर में ख़ून की कमी हो जाती है। तब उसे पूरा करने के लिए ब्लड ट्रांसफ्यूजन की जरुरत होती है। जैसे किसी दुर्घटना में अधिक खून बह जाना, ऑपरेशन में अधिक ब्लीडिंग होना आदि।

Blood Transfusion के क्या फायदे है ?

  • इस प्रक्रिया से हजारों लोगो की जाने प्रतिदिन बचाई जाती है।
  • जब कभी नाड़ियो से अधिक खून बह जाता है, तो इस प्रक्रिया से काफी फायदा पहुँचता है।
  • जिन मरीजों को कीमोथेरपी दी जाती है, उन्हें इस प्रक्रिया से प्लेटलेट्स की जरूरतों को पूरा किया जाता है।
  • लाल रक्त कोशिका (RBC) को चढ़ा कर ऑक्सीजन की कमी को पूरा किया जाता है।

Blood Transfusion के क्या नुकसान है ?

सभी रोगियों को ये प्रभाव नहीं होते है। लेकिन कभी कभी ऐसे साइड इफ़ेक्ट देखे जा सकते है।

  • सिरदर्द होना
  • बुखार आना
  • खुजली होना
  • सांस लेने में परेशानी होना
  • छाती में दर्द होना
  • ब्लड प्रेशर में अचानक कमी होना

विश्व रक्त दाता दिवस कैसे मनाया जाता है ?

रक्त हर वर्ष लाखों लोगो की जान बचाता है। इस दिन राष्ट्रिय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर लोगे प्रोत्साहित और जागरूक करने के लिए कार्यक्रम किये जाते है।

विश्व में कई तरह के स्वास्थ्य संगठन है जैसे विश्व स्वास्थ्य संगठन, द इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ़ रेड क्रॉस, रेड क्रेसेंट सोसाइटीज, द इंटरनेशनल फेड्रेसन ऑफ़ ब्लड डोनर ऑर्गेनाइजेशन और द इंटरनेशनल सोसाईटी ऑफ़ ब्लड ट्रांसफ्यूज़न आदि।

ये सभी संगठन मिलकर कई तरह की रक्तदान शिविर, कार्यक्रम, प्रतियोगिता, चर्चा, वाद विवाद, प्रश्नोत्तरी आदि का आयोजन करते है। ताकि लोग रक्तदान के प्रति शिक्षित हो सके।

विश्व रक्त दाता दिवस को मनाने का उद्देश्य क्या है ?

विश्व रक्त दाता दिवस का मुख्य उद्देश्य है, लोगो को रक्तदान के प्रति ज्यादा से ज्यादा से जागरूक करना। इसके अलावा भी बहुत से बिंदु है। आइये एक एक करके उनके बारे में जानते है।

2020 तक स्वैच्छिक रक्तदान

विश्व स्वास्थ्य संगठन का उद्देश्य था कि 2020 तक सभी को रक्तदान के प्रति जागरूक करेंगे ताकि सभी रक्तदाता स्वेच्छा से रक्तदान कर सकें और इस एकत्रित वक्त को जरूरतमंदों तक पहुंचाया जा सके।

परिवार के सदस्यों पर निर्भरता

कुछ रिपोर्ट से यह पता चला है की, 60 फीसदी लोगों को जब भी रक्त की जरुरत पड़ती है, तो अभी भी अपने परिवार और रिश्तेदारों पर निर्भर रहते है।

इसमें अधिकतर समय लोगों को रक्त के बदले पैसों का भुगतान करना पड़ता है।

इस बात को ध्यान में रखते हुए, WHO ने इस अभियान की शुरुआत की थी। ताकि सभी को रक्तदान के लिए प्रोत्साहित किया जा सके।

एकीकरण

यह दिवस हम सभी को एक सूत्र में बांधता है, और यह सन्देश देता है, की हम सभी को एक दूसरे की सहायता करनी चाहिए। क्योंकि जब हम रक्तदान से किसी को नया जीवन देते है, तो हमारा आपस में एक सकारात्मक भाव बढ़ता है।

जीवन रक्षा को अधिकतम करना

हर साल हजारों जान ख़ून न मिलने के करण चली जाती है। इसलिए इसका उद्देश्य है, लोगो को रक्तदान के प्रति जागरूक करें। ताकि प्रत्येक वर्ष होने वाली मौतों का आंकड़ा कम किया जा सके।

बीमारियों में सहायता करना

रक्तदान से जो भी रक्त एकत्रित होता है, उससे रक्त हीन महिलाओं, अनाथ बच्चो, दुर्घटना से पीड़ित व्यक्ति, शल्य चिकित्सा रोगियों, कैंसर से पीड़ित रोगियों, थैलीसीमिया से पीड़ित रोगियों, हेमोफिलिया से पीड़ित रोगियों सिकल सेल एनीमिया, रक्त के थक्के जम जाने वाली बीमारी से पीड़ित और रक्त से संबंधित किसी भी तरह की बीमारी से ग्रसित व्यक्ति के लिए इस रक्त का उपयोग किया जाता है।

(Blood Group) रक्त समूह कितनी तरह का होता है ?

आइये जानते है की रक्त समूह कितनी तरह का होता है। रक्त को मुख्यतः आठ वर्गों में बांटा गया है। जिसकी दो मुख्य श्रेणी होती है। (+ve) सकारात्मक और (-ve) नकारात्मक। आइये नीचे दी टेबल के माध्यम से समझते है।

रक्त समूह किसे दे सकते है।
ए + (A+) A+ and AB+
ए – (A-) A+, A-, AB+ and AB-
बी + (B+) B+ and AB+
बी – (B-) B+, B-, AB+ and AB-
ओ + (O+) O-, A+, B+ and AB+
ओ – (O-) O+, O-, A+, A-, B+, B-, AB+, AB- For All.
एबी + (AB+) AB+
एबी – (AB-) AB+ and AB-

रक्तदान कौन कर सकता है ?

रक्तदान करने के लिए कुछ शर्तें है। जिन्हे पूरा करना जरुरी है। रक्तदान करने के लिए नीचे दी हुयी शर्तों को पूरा करना जरुरी है।

उम्र 18 से 65 वर्ष के बीच
वजन 45 किलोग्राम या अधिक
हीमोग्लोबिन कम से कम 12.5 ग्राम प्रति डेसीलीटर

रक्तदान करने के फ़ायदे क्या है ?

किसी का जीवन बचाना हम सब की नैतिक जिम्मेदारी है। इसलिए रक्तदान करना भी हम सबकी एक जिम्मेदारी है।

  • किसी का जीवन बचाने पर संतुष्टि मिलती है।
  • जब हम रक्तदान करते हैं तो हमारे शरीर में रक्त बनने की प्रक्रिया तेज हो जाती है।
  • एक शोध से पता चला है, कि रक्तदान करने वाले व्यक्ति के शरीर में कोलेस्ट्रोल कंट्रोल में रहता है। साथ ही हृदय रोग की संभावना भी काफी कम हो जाती है।
  • अगर आप एक रक्तदान करता है, और आपको कभी रक्त की जरूरत पड़ती है। तो ब्लड बैंक से आपको रक्त देने में प्राथमिकता दी जाती है।

रक्तदान से जुडी कुछ अहम् बातें –

“भारत में एक लाख से अधिक थैलेसीमिया रोगियों के लिए लॉकडाउन सबसे महत्वपूर्ण समय था, जो हर महीने रक्त आधान से गुजरते हैं।”

इंडियन रेडक्रॉस सोसायटी

“रक्तदाता कैंपों में हर दो काउच के बीच एक मीटर की दूरी होना आवश्यक है ताकि रक्तदाता सुरक्षित रहे।”

नेशनल ब्लड ट्रांसफ्यूजन काउंसिल, भारत सरकार

“महामारी में रक्त की आवश्यकता बढ़ी है पर रक्तदाता घट गए हैं, हमें लोगों को रक्तदान के लिए प्रोत्साहित करना होगा।”

यूएस फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन

“भारत की आबादी के हिसाब से हर साल 1.35 करोड़ रक्तदान की जरूरत है जबकि यहां 1.1 करोड़ वार्षिक रक्तदान हो रहा है।”

विश्व स्वास्थ्य संगठन

“अफ्रीकी देशों में लॉकडाउन के दौरान टीबी और एचआईवी मरीजों के लिए रक्त की आपूर्ति 13 प्रतिशत से अधिक घट गई।”

हृयूमन साइंस रिसर्च काउंसिल, दक्षिण अफ्रीका

“ऐसा व्यक्ति जिसे हाल में कोई बीमारी न हुई हो और उसमें कोविड-19 के कोई लक्षण नहीं हो, वह रक्तदान के योग्य है।”

विश्व स्वास्थ्य संगठन

“कोविड के कारण हमें पहले से कहीं अधिक रक्त की आवश्यकता पड़ रही है इसके लिए बड़े स्तर पर रक्तदाता कैंप लगाए जा रहे हैं।”

एम्स, नई दिल्ली

“रक्त देने जाते समय मास्क जरूर लगाएं और हाथ की स्वच्छता का ध्यान रखें, अपने स्वास्थ्य से जुड़ी सही-सही जानकारी उपलब्ध करवाएं।”

सेंटर फॉर डिसीज कंट्रोल एंड प्रिवेंशन, अमेरिका

World Blood Donor Day की थीम के बारे में –

प्रत्येक वर्ष रक्तदान दिवस पर कोई न कोई थीम दी जाती है। तो आइये देखते है इनके बारे में –

2004 World Blood Donor Day Theme

साल 2004
स्लोगन “रक्त जीवन बचाता है, मेरे साथ रक्त बचाने की शुरुआत करें।”
मेज़बान देश दक्षिण अफ्रीका
अर्थ रक्त हम सबके लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है,
इसलिए हम सब मिलकर इसे बचाते है।

2005 World Blood Donor Day Theme

साल 2005
स्लोगन “उपहार स्वरुप मिले रक्त का जश्न मनाये”
मेज़बान देश जिनेवा
अर्थ जो रक्त ईश्वर ने आपको उपहार के रूप में दिया है,
उसका आनंद ले।

2006 World Blood Donor Day Theme

साल 2006
स्लोगन “हर धर्म और तबके के लोगों तक सुरक्षित रक्त की पहुँच हो”
मेज़बान देश थाईलैंड
अर्थ उद्देश्य था की सभी को रक्त की आपूर्ति हो, बिना किसी भेदभाव के।
फिर चाहे कोई किसी भी धर्म या सबके से ताल्लुक रखता हो।

2007 World Blood Donor Day Theme

साल 2007
स्लोगन “सुरक्षित मातृत्व के लिए सुरक्षित रक्त”
मेज़बान देश ओटावा
अर्थ इसमें सन्देश था, की महिलाओं को उस समय खून की
आपूर्ति कराना, जब उन्हें सबसे ज्यादा जरुरत हो।

2008 World Blood Donor Day Theme

साल 2008
स्लोगन “नियमित रूप से रक्त दान करे”
मेज़बान देश यूनाइटेड अरब अमीरात
अर्थ किसी भी व्यक्ति को कभी भी अचानक खून की
आवश्यकता पड़ सकती है। इसलिए हम सभी को
नियमित रक्तदान करते रहना चाहिए।

2009 World Blood Donor Day Theme

साल 2009
स्लोगन “रक्त दान महादान”
मेज़बान देश मेलबोर्न, ऑस्ट्रेलिया
अर्थ एक व्यक्ति नियमित रूप से रक्तदान करके कई
लोगो की जान बचा सकता है। इसलिए इसे सबसे बड़ा दान कहा गया है।

2010 World Blood Donor Day Theme

साल 2010
स्लोगन “नया रक्त विश्व के लिए”
मेज़बान देश बार्सिलोना
अर्थ नए रक्त से मतलब है युवा। युवाओं को रक्तदान
के उत्साहित और प्रेरित करना है।

2011 World Blood Donor Day Theme

साल 2011
स्लोगन “अधिक रक्त अधिक जीवन”
मेज़बान देश अर्जेंटीना
अर्थ दुनिया में हजारों लोगो की मौत, रक्त न मिलने के
कारण हो जाती है। इसलिए कहा गया है, हम जितना
अधिक रक्त का संरक्षण करेंगे, उतनी ही अधिक जिंदगी बचा पाएंगे।

2012 World Blood Donor Day Theme

साल 2012
स्लोगन “प्रत्येक रक्त दाता एक नायक है”
मेज़बान देश कोरिया
अर्थ यँहा सन्देश देने की कोशिश की गयी है,
की जो भी व्यक्ति रक्तदान करता है,
वो एक नायक है। उसका हम सभी को सम्मान करना चाहिए।

2013 World Blood Donor Day Theme

साल 2013
स्लोगन “जीवन का उपहार दीजिये”
मेज़बान देश फ़्रांस
अर्थ रक्तदान एक सबसे बड़ा उपहार है।
अगर आप किसी को कोई उपहार देना चाहते है।
तो रक्तदान का उपहार दीजिये।

2014 World Blood Donor Day Theme

साल 2014
स्लोगन “माताओं को बचाने के लिए सुरक्षित रक्त”
मेज़बान देश श्रीलंका
अर्थ मातृ मृत्यु को रोकने के लिए इस अभियान को चलाया गया था।

2015 World Blood Donor Day Theme

साल 2015
स्लोगन “मेरी जिन्दगी बचाने के लिए धन्यवाद”
मेज़बान देश चीन
अर्थ साल 2015 रक्तदाताओं को धन्यवाद देने पर था।
जो अपने रक्तदान से लोगों की जान बचाते है।

2016 World Blood Donor Day Theme

साल 2016
स्लोगन “जीवन को साझा करे, रक्त दे”
मेज़बान देश नीदरलैंड
अर्थ समाज को एकत्र करते हुए,
रक्तदान के प्रति जागरूक करना।

2017 World Blood Donor Day Theme

साल 2017
स्लोगन “आप क्या कर सकते है? खून दे,
अभी दे और हमेशा दे”
मेज़बान देश वियतनाम
अर्थ हमें अपना रक्त दान देकर दूसरों की जिंदगी बचानी चाहिए।
क्योंकि रक्त एक मूल्यवान उपहार है,
और इसे देकर जान बचाना, एक गर्व की बात है।

2018 World Blood Donor Day Theme

साल 2018
स्लोगन “रक्त हम सभी को जोड़ता है”
मेज़बान देश यूनान
अर्थ लोगों को एकदूसरे की सहायता करनी चाहिए।

2019 World Blood Donor Day Theme

साल 2019
स्लोगन “सभी के लिए सुरक्षित रक्त”
मेज़बान देश रवांडा
अर्थ उद्देश्य था की, सभी के लिए सुरक्षित रक्त हमेशा उपलब्ध रहे।
ताकि जरुरत पड़ने पर सभी को आसानी से रक्त की आपूर्ति की जा सके।

2020 World Blood Donor Day Theme

साल 2020
स्लोगन सुरक्षित रक्त जीवन बचाता है
मेज़बान देश
अर्थ सभी को रक्तदान करना चाहिए, और दुनिया को अधिक बेहतर बनाना चाहिए।

2021 World Blood Donor Day Theme

साल 2021
स्लोगन “Give blood and keep the world-beating”
मेज़बान देश इटली
अर्थ

निष्कर्ष

दोस्तों, आज का विषय था “World Blood Donor Day : विश्व रक्तदाता दिवस/रक्तदान दिवस कब मनाया जाता है ?” इस पर हमने आपको पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। उम्मीद है आपको जरूर पसंद आई होगी।

इन्हे पढ़ें –

आशा करता हूँ आपको ये जानकारी जरूर पसंद आयी होगी। अगर आपको ये जानकारी पसंद आयी हो तो जरूर Comment Box में बताएं और अगर आप कुछ पूछना या बताना चाहते है तो कृपया Comment करे, मैं जरूर Reply देनें की कोशिश करूँगा।

Jitendra Prajapati Administrator
संस्थापक www.HindiPlus.in
दोस्तों, मेरा नाम जितेन्द्र प्रजापति है। मैं B.Com ग्रेजुएट हूँ। अभी एक MNC में कार्यरत हूँ। मुझे नयी जानकारी से भरे आर्टिकल पढ़ना और लिखना बहुत पसंद है।
follow me

Leave a Comment