VISA कितने प्रकार का होता है? 58 देश जँहा भारतीय Visa Free Travel कर सकते है।

दोस्तों, घूमना हम सभी को पसंद है। फिर चाहे वो अपना देश हो या फिर विदेश। लेकिन विदेश का नाम सुनते ही हमे लगता है की, किसी देश का Visa लेना बहुत बड़ी समस्या है। लेकिन कई ऐसे देश भी है, जंहा हम भारतीयों को Visa Free Entry है। तो आज हम जानेंगे “VISA कितने प्रकार का होता है? 58 देश जँहा भारतीय Visa Free Travel कर सकते है।”

VISA कितने प्रकार का होता है?

VISA की फुल फॉर्म क्या है ?

VISA की फुल फॉर्म हिंदी में – आगंतुक अंतर्राष्ट्रीय प्रवास प्रवेश

VISA full form in English – Visitors International Stay Admission.

वीज़ा क्या होता है?

जब हम किसी भी देश में जाते है तो हमे वीज़ा की जरुरत होती है। अगर आसान भाषा में कहे तो VISA एक अनुमति पत्र होता है किसी देश में प्रवेश करने और वह विशिष्ट काम करने के लिए, जिसके लिए हमने आवेदन किया था।

मुख्यतः हमे VISA लेने के लिए पहले आवेदन करना होता है। उसके बाद एक पूरी प्रक्रिया के अनुसार VISA जारी किया जाता है। कई बार रिजेक्ट भी कर दिया जाता है।

लेकिन कई देश ऐसे भी है जँहा जाने के लिए वीज़ा तुरंत दे दिया जाता है। जैसे ही आप उस देश के एयरपोर्ट पर पहुँचते है वैसे ही आपको तुरंत Visa दे दिया जाता है। इस तरह के वीज़ा को “आगमन पर वीज़ा” कहा जाता है।

भारत में कितने प्रकार के VISA है ?

रोजगार वीज़ासम्मेलन वीज़ा
व्यापार वीज़ामेडिकल वीज़ा
प्रोजेक्ट वीज़ाराजनयिक वीज़ा
“एक्स” / प्रवेश वीज़ाआगमन पर वीज़ा
पर्यटक वीज़ाएमिगेंट वीज़ा
अनुसंधान वीज़ाविवाह का वीज़ा
पारगमन वीज़ायूनिवर्सल वीज़ा

Employment Visa

जिस व्यक्ति (विदेशी नागरिक) के पास भी अपने प्रोफेशन में बहुत ज्यादा कुशलता होती है। Employment Visa उनके लिए होता है। इस तरह के व्यक्ति Employment Visa के जरिये भारत में आकर रोजगार ले सकते है।

अवधि – 5 वर्ष के लिए वैध जिसे बाद में आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

Business Visa

जो भी विदेशी नागरिक भारत में बिज़नेस करना चाहता है। उसे Business Visa के लिए आवेदन करना होता है। Business Visa के साथ ही भारत में किसी बिज़नेस को किया जा सकता है।

अवधि – 5 वर्ष के लिए वैध जिसे बाद में आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

Project Visa

विद्युत और इस्पात क्षेत्रों में परियोजनाओं के निष्पादन के लिए Project Visa दिया जाता है। Project Visa के साथ ही इन क्षेत्रो में काम किया जा सकता है।

अवधि – 1 वर्ष के लिए वैध।

“X”/ Entry visa

“X”/ Entry visa उनके लिए होता है जिनका सम्बन्ध भारत से है। जैसे जो विदेशी भारतीय मूल के होते है। वो “X”/ Entry visa लेकर भारत आ सकते है।

अवधि – 5 वर्ष के लिए वैध जिसे बाद में आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

Tourist Visa

Tourist Visa जैसाकि नाम से ही पता चल रहा है। जो भी व्यक्ति (विदेशी नागरिक) भारत में आकर घूमना चाहता है। उन्हें Tourist Visa लेना होता है। उसके बाद वह भारत में घूम सकते है।

अवधि – 30 दिनों के लिए वैध इसे आगे नहीं बढ़ाया जा सकता।

Research Visa

Research Visa उनके लिए होता है जो किसी भी तरह की खोजबीन भारत में करना चाहते है। जैसे किसी तरह की दवा, केमिकल, मशीन आदि।

अवधि – 5 वर्ष के लिए वैध जिसे बाद में आगे भी बढ़ाया जा सकता है।

Transit Visa

जो भी यात्री भारत से होकर गुजरते है। उन्हें Transit Visa लेना होता है। उसके बाद ही भारत से होकर अपनी आगे की यात्रा कर सकते है।

अवधि – 15 दिनों के लिए वैध इसे आगे नहीं बढ़ाया जा सकता।

Conference Visa

जब भी कोई सम्मलेन आयोजित होता है, तो उसमे भाग लेने के लिए Conference Visa लेना होता है। यह सम्मलेन इस तरह के होते है – सरकार द्वारा आयोजित अंतर्राष्ट्रीय सेमिनार / संगोष्ठी / पीएसयू / गैर सरकारी संगठन

अवधि – सम्मेलन की अवधि तक

Medical Visa

अगर कोई व्यक्ति (विदेशी नागरिक) भारत के किसी मान्यता प्राप्त अस्पताल में इलाज करवाना चाहता है, तो उसे Medical Visa लेना पड़ता है। उसके बाद वह अपना भारत में करवा सकते है।

अवधि – 1 साल के लिए।

Diplomatic Visa

Diplomatic Visa राजनयिक/अधिकारी/यूएन आदि से सम्बंधित लोगो के लिए होता है।

On-arrival Visa

On-arrival Visa एयरपोर्ट पर तुरंत ही जारी कर दिया जाता है। इसके लिए पहले से आवेदन करने की जरुरत नहीं होती है।

Emigrant Visa

Emigrant Visa इस व्यक्ति को दिया जाता है, जो हमेशा के लिए किसी देश बसना चाहता है।

Marriage Visa

Marriage Visa शादी करने वालो को दिया जाता है। इसमें दोनों देशों की सहमति जरुरी होती है।

Universal Visa

Universal Visa किसी भी व्यक्ति को ज़िन्दगी भर के लिए दिया जाता है। Universal Visa लेने के बाद वह व्यक्ति भारत में नौकरी के लिए भी आवेदन कर सकता है।

VISA के लिए कैसे आवेदन करते है ?

सभी देश वीज़ा आवेदन के लिए वेबसाइट बना कर रखते है। आप जिस भी देश का वीज़ा लेना चाहते है, उनकी ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर आवेदन कर सकते है।

अब बात करते है की भारत के वीज़ा के लिए क्या प्रक्रिया है?

  1. Online Visa
  2. e-Tourist Visa (eTV)

1. Online Visa

वीज़ा की पहचान (Online)

  • सबसे पहले वीज़ा लेने का कारण और वीज़ा की श्रेणी की पहचान करें।
  • सभी नियम और शर्ते पढ़ें।
  • पासपोर्ट के 2 पेज खाली होने चाहिए और पासपोर्ट की वैधता कम से कम 6 महीने होनी चाहिए।

ऑनलाइन एप्लीकेशन भरना (Online)

  • सभी जानकारी ध्यानपूर्वक भरें।
  • फोटो और पासपोर्ट पेज को अपलोड करें।
  • फीस का भुगतान करें।
  • अगर अपॉइंटमेंट की जरुरत हो तो उसे बुक करें।

एप्लीकेशन को जमा करना (Courier/In-person)

  • एप्लीकेशन को प्रिंट करें। उस पर हस्ताक्षर करे।
  • कूरियर कंपनी से संपर्क करें।
  • अपने एप्लीकेशन के फीस की रसीद और कूरियर की रसीद भी लगाएं।

Visa की प्रक्रिया (Online/Interview)

  • प्रक्रिया के दौरान आपको साक्षात्कार के लिए बुलाया जा सकता है।
  • आप अपने सभी दस्तावेज़ साथ लेकर जाएं।

Visa Granted/Rejected (Courier/Collect In-person)

  • आपकी एप्लीकेशन को रिजेक्ट भी किया जा सकता है और Approved भी किया जा सकता है।
  • Approved होने पर आपको वीज़ा मिल जायेगा।
    • Courier
    • Collect In-person

2. e-Tourist Visa (eTV)

  • सबसे पहले ऑनलाइन अप्लाई करे।
  • https://indianvisaonline.gov.in/visa/tvoa.html
  • फोटो और पासपोर्ट पेज को अपलोड करें।
  • फीस का भुगतान करें।
  • इसके बाद 72 घंटों के अंदर आपको ईमेल मिल जाएगी।
  • अब भारत में घूमने के लिए तैयार है।

भारतीय लोग कितने देशो में VISA-Free Travel कर सकते है ?

एशिया (Asia)

थाईलैंड (Thailand)मकाऊ (Macau)
श्रीलंका (Sri Lanka)लाओस (Laos)
तिमोर-लेस्ते (Timor Leste)इंडोनेशिया (Indonesia)
म्यांमार (Myanmar)कंबोडिया (Cambodia)
नेपाल (Nepal)भूटान (Bhutan)
मालदीव (Maldives)

यूरोप (Europe)

सर्बिया (Serbia)

अफ्रीका (Africa)

ज़िम्बाब्वे (Zimbabwe)मोज़ाम्बिक (Mozambique)
युगांडा (Uganda)मॉरीशस (Mauritius)
ट्यूनीशिया (Tunisia)मॉरिटानिया (Mauritania)
टोगो (Togo)मेडागास्कर (Madagascar)
तंजानिया (Tanzania)केन्या (Kenya)
सोमालिया (Somalia)गिनी-बिसाऊ (Guinea-Bissau)
सिएरा लियोन (Sierra Leone)गैबॉन (Gabon)
सेशेल्स (Seychelles)इथियोपिया (Ethiopia)
सेनेगल (Senegal)कोमोरोस (Comoros)
रवांडा (Rwanda)केप वर्दे द्वीप (Cape Verde Islands)

ओशिनिया (Oceania)

वानुअतु (Vanuatu)नियू (Niu)
तुवालु (Tuvalu)माइक्रोनेशिया (Micronesia)
समोआ (Samoa)मार्शल द्वीप (Marshall Islands)
फ़िजी (Fiji)कुक द्वीपसमूह (Cook Islands)
पलाऊ द्वीप (Palau Islands)

कैरेबियन (Caribbean)

त्रिनिदाद और टोबैगो
(Trinidad and Tobago)
हैती (Haiti)
विंसेंट और ग्रेनेडाइंस
(Vincent and the Grenadines)
ग्रेनेडा (Grenada)
लूसिया (Lucia)डोमिनिका (Dominica)
किट और नेविस (Kit and Nevis)ब्रिटिश वर्जिन आइसलैण्ड्स
(British Virgin Islands)
मोंटेसेराट (Montserrat)बारबाडोस (Barbados)
जमैका (Jamaica)

अमेरिका (America)

एल साल्वाडोर (El salvador)बोलीविया (Bolivia)

मध्य पूर्व (Middle East)

कतर (Qatar)ईरान (Iran)
जॉर्डन (Jordan)आर्मेनिया (Armenia)

निष्कर्ष

दोस्तों आज का हमारा विषय था “VISA कितने प्रकार का होता है? 58 देश जँहा भारतीय Visa Free Travel कर सकते है।” मैंने आपको इस विषय पर पूरी जानकारी देने की कोशिश की है। उम्मीद है आपको जरूर पसंद आया होगा।

इन्हे पढ़ें –

आशा करता हूँ आपको ये जानकारी जरूर पसंद आयी होगी। अगर आपको ये जानकारी पसंद आयी हो तो जरूर Comment Box में बताएं और अगर आप कुछ पूछना या बताना चाहते है तो कृपया Comment करे, मैं जरूर Reply देनें की कोशिश करूँगा।

2 thoughts on “VISA कितने प्रकार का होता है? 58 देश जँहा भारतीय Visa Free Travel कर सकते है।”

Leave a Comment